Madhya Pradesh States

बच्ची से दुष्कर्म और हत्या मामले में कोर्ट में चालान पेश, जज के सामने रोने लगा आरोपी

भोपाल. कमला नगर के मांडवा बस्ती में शनिवार रात नौ साल की बच्ची से दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या के मामले में भोपाल पुलिस बुधवार को अदालत में 108 पेज का चालान पेश कर दिया। मामले में 40 गवाह भी बनाए गए हैं। बताया जा रहा है कि कोर्ट में आरोपी जज के सामने रोने लगा। रविवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आरोपी की गिरफ्तारी के बाद 48 घंटे में चालान पेश करने और एक महीने में आरोपी को सजा दिलाने की बात कही थी।

ये भी पढ़ें

9 साल की बच्ची की दुष्कर्म के बाद गला दबाकर हत्या, नाले में मिला शव; 6 पुलिसकर्मी सस्पेंड

भोपाल पुलिस बुधवार को आरोपी विष्णु को अदालत का समय समाप्त होने के कुछ मिनट पहले ही कोर्ट पहुंची। आरोपी को जैसे ही जज के सामने पेश किया तो वो रोने लगा और उसने कहा कि उसे फांसी दे दी जाए। इस पर जज ने उसे फटकार लगाई और चुपर रहने कहा।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने अदालत में 108 पेज का चालान पेश किया है मामले में 40 गवाह भी बनाए गए हैं। पूरी कागजी कार्रवाई पूरी करने में 20 से अधिक पुलिसकर्मी और अधिकारी बीते तीन दिन से लगे हुए थे।

क्या है पूरा मामला

  • 9 जून की रात करीब आठ बजे मांडवा बस्ती में बच्ची दुकान पर सामान लेने गई थी। इसके बाद घर नहीं लौटी।
  • परिजनों ने थाने में शिकायत दर्ज कराने गए। पुलिस ने परिजनों को थाने से भगा दिया।
  • थाने से लौटने के बाद परिजन स्थानीय पार्षद के पास पहुंचे और पुलिस के रिपोर्ट दर्ज नहीं करने के बारे में बताया।
  • पार्षद के कहने पर पुलिस ने मामला दर्ज किया और पुलिसकर्मी बच्ची के घर पहुंचे। यहां उन्होंने बच्ची के पिता से गुटखा लाने कहा और कुछ आपत्तिजनक बातें कहीं।
  • इसके बाद पुलिसकर्मी वापस चले गए और परिजन रातभर पड़ोसियों के साथ बच्ची को खोजते रहे।
  • आरोपी भी रातभर परिजनों के साथ बच्ची को खोजने का नाटक करता रहा। इस बीच सुबह के समय वो बच्ची के परिजनों को भदभदा पुल के पास भेज खुद अपनी झुग्गी में आ गया।
  • इस बीच परिजनों को खबर मिली की बच्ची की लाश नाले में पड़ी है।
  • बच्ची को खोजने में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया।
  • पुलिस पहुंची और बच्ची के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। भाजपा और कांग्रेस के नेताओं का बच्ची के घर पहुंचना शुरू हो गया।
  • मामले में लापरवाही बरतने पर सात पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया।
  • इस बीच आरोपी बच्ची की लाश नाले में फेंक भोपाल से फरार हो गया। उसकी लोकेशन ट्रेन में मिली।
  • पुलिसबल उसके परिजनों को लेकर रवाना हुई। इधर मुख्यमंत्री ने आरोपी को जल्द गिरफ्तार कर 48 घंटे में चालान पेश करेगी और एक महीने में सजा दिलाई जाएगी।
  • पुलिस को आरोपी के घर से बच्ची की टूटी हुई चूढ़ियां और वो सामान मिला जिसे लेने बच्ची दुकान पर गई थी।
  • रविवार दोपहर 10 जून को बच्ची का अंतिम संस्कार भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच किया गया। भाजपा ने विरोध में शहर में कई जदग कैंडल मार्च निकाला।
  • सोमवार सुबह आरोपी को ओंकारेश्वर के पास मोरटक्का नाम की जगह से गिरफ्तार कर लिया गया। उसे भोपाल लाया गया और मंगलवार सुबह उसे घटनास्थल पर ले जाकर वारदात का रिक्रिएशन कराया गया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

ओंकारेश्वर के पास मोरटक्का से आरोपी विष्णु को पुलिस ने गिरफ्तार किया था।